Print

आज राष्ट्र के विकास मे सामुदायिक रेडियो की भुमिका किसी से छुपी नहीं. देश भर मे सफलतापूर्वक चल रहे लगभग 190 सामुदायिक रेडियो स्टेशन्स से सरकार तथा जनसामान्य को सामाजिक बद्लाव और विकास की बहुत सी उम्मीदें बंध गई हैं. ऐसे मे चल रहे सामुदायिक रेडियो स्टेशन्स निरंतर विपरीत परिस्थितियों में कार्य करते रहे, उनके संचालन मे आने वाली चुनौतियों का समय रहते निवारण होता रहे  और उनकी समस्याऐं सही संदर्भ सरकारी तंत्र के समक्ष पेश होती रहे और उन्हें हर नई तकनीक से समय समय पर जोड़ा जाये इसके लिये फेडरेशन आफ कम्युनिटी रेडियो स्टेशन्सबडी़ ही प्रतिबधत्ता के साथ अपनी महत्वपूर्ण भुमिका निभा रहा है.

अभी हाल ही में 17 मार्च 2016 को मालविया स्मॄति भवनमें फेडरेशन के द्वारा आयोजित सेमिनार में सामुदायिक रेडियो की दिशा और दशा पर चिंतन किया गया. सेमीनार के सुबह और शाम के सत्रों मे सामुदायिक रेडियो के रचनात्मक कंटेंट और नवीन तकनीकी विकल्पों से परिचित गया. इससे लगा की फेडरेशन आफ कम्युनिटी रेडियो स्टेशन्सना केवल सामुदायिक रेडियो की चुनौतियों को सही दिशा में समझ रहा बल्कि आगे बढ़कर समस्याओं का निदान भी करने की कोशिश कर रहा है | 

 

इस महती प्रयास के लिये रेडियो नोएडा 107.4 “एफसीआरएसको ढेर सारी शुभकामनाये देता है |